Hindi Shayari शायरी: Best Love, Sad, Romantic, Attitude Shayari


Breakup Shayari

🆆🅰🅿🅰🆂…ब्रेकअप शायरी

Mumkin Agar ho sake to Wapas kar do,
Bina Dil Ke ab Hamara Dil Nahin Lagta💔
मुमकिन अगर हो सके तो वापस कर दो,
बिना दिल के अब हमारा दिल नहीं लगता.

shayari
Breakup Shayari

Khud Ko padhta Hoon fir Chhod deta hoon,
ek Panna Zindagi Ka Main Roj Mod deta hun
खुद को पढता हूँ फिर छोड़ देता हूँ,
एक पन्ना ज़िन्दगी का मैं रोज मोड़ देता हूँ.


Ho saktahai Mar jaaun Chnd Dinon Mein,
Ek shaqs Jala raha hai dil ko, Roz Thoda Thoda💔
हो सकता है मर जाऊं चंद दिनों में,
एक शक़्स जला रहा है दिल को, रोज़ थोड़ा थोड़ा



Sochta Hun Ki Kuchh “kisse” kahun,
Par “Kis se” kahun ?
सोचता हूँ की कुछ “किस्से” कहूं,
पर “किस से” कहूं ?

[Read More Breakup Shayari→]


Ishq Shayari

🆂🆄🅽🅾…इश्क शायरी

Wo Tumhara Suno keh kar Chup Ho Ja Na,
aur mera sab Sun Lena Hi Ishq Hai 💖
वो तुम्हारा सुनो कह कर चुप हो जा न,
और मेरा सब सुन लेना ही इश्क़ है.

shayari


Kambakht Ishq Mein Jalte Ham Hain… aur
Aag Duniya Ko Lagti Hai
कमबख्त इश्क में जलते हम हैं…और
आग दुनिया को लगती है.


Kisi Ne Humse Kaha Ishq dhema Zeher hai,
Humne bhi muskurakar kha jaldi hamen bhi nahin hai 💖
किसी ने हमसे कहा इश्क़ धीमा ज़हर है,
हमने भी मुस्कुराकर कहा जल्दी हमें भी नहीं है.




Tujhe Kya Dekha, Khud Ko hi bhul gaye Ham Is Kadar,
Ki Apne Hi Ghar Aaye To Auron se pata poochh kar💖
तुझे क्या देखा, खुद को ही भूल गए हम इस कदर,
की अपने ही घर आये तो औरों से पता पूछ कर

[Read More Ishq Shayari→]


Mohabbat Shayari

🆁🅰🆂🅼…शायरी मोहब्बत

Mehfil Mein Gale Milkar wo Dhire se kah Gaye,
yah Duniya Ki rasm Hai, ise Mohabbat Na Samajh lena
महफ़िल में गले मिलकर, वो धीरे से कह गए,
यह दुनिया की रस्म है, इसे मोहब्बत न समझ लेना

shayari


Adhuri Mohabbat Gunah thodi hai Sahab
Jaam Aadha ho to bhi Nasha pura deta hai
अधूरी मोहब्बत गुनाह थोड़ी है साहब…
जाम आधा हो तो भी नशा पूरा देता है.


Ek ChhotaSa Gunah, Mohabbat….
Zindagi Bhar hisab Leta Hun
एक छोटा सा गुनाह, मोहब्बत….
ज़िन्दगी भर हिसाब लेता हूँ.




Dekha palat ke usne, Ki Hasrat use bhi thi,
Ham Jis per MIT gaye the Mohabbat use bhi thi,
Ye sochkar Andhere Gale Se Laga liye,
Raaton Ko jagne ki Aadat usse bhi Thi Woh Ro Diya tha Mujhko Pareshan dekar,
us Din Raaz Khula ke meri Zaroorat use bhi the💖
देखा पलट के उसने, की हसरत उसे भी थी,
हम जिस पर मिट गए थे मोहब्बत उसे भी थी,
ये सोचकर अँधेरे गले से लगा लिए,
रातों को जागने की आदत उसे भी थी,
वह रो दिया था मुझको परेशां देकर,
उस दिन राज़ खुला कि मेरी ज़रुरत उसे भी थे

[Read More Mohabbat Shayari→]

Leave a Reply