Hindi Shayari शायरी: Best Love, Sad, Romantic, Attitude Shayari

Heart Touching Shayari

🅺🅷🆄🅳🅰…

Agar Khushi milti hai tumhe Humse juda hokar,
To Dua Hai Khuda Se Ki tumhe kabhi Ham Na Mile 💔
अगर ख़ुशी मिलती है तुम्हे हमसे जुदा होकर,
तो दुआ है खुदा से कि तुम्हे कभी हम न मिले

shayari
heart touching shayari

Fitoor Hota Hai Har Umr Mein Juda Juda,
khilaune, mashooka, rutba aur phir Khuda
फितूर होता है हर उम्र में जुदा जुदा,
खिलौने, माशूका, रुतबा और फिर खुदा


Mujhe samajh Pana Itna Aasan Nahin,
Gehra Samundar hun Khula Aasman Nahin
मुझे समझ पाना इतना आसान नहीं,
गहरा समुन्दर हुन खुला आसमान नहीं




Hasraton ke SikKe liye ujale kharidne nikale the ham,
Umr ki Pahli Gali Mein Hi Zimmedariyon Ne Loot Liya
हसरतों के सिक्के लिए उजाले खरीदने निकले थे हम,
उम्र की पहली गली में ही ज़िम्मेदारियों ने लूट लिया


Mirza Ghalib Shayari

🅽🅰🆉🆄🅺…

Ishq Ke Rishte Bhi Bade Nazuk hote hain Sahab,
raat ko number Busy Aane per bhi Toot Jaate Hain
इश्क के रिश्ते भी बड़े नाज़ुक होते हैं साहब,
रात को नंबर बिजी आने पर भी टूट जाते हैं

shayari
mirza ghalib shayari

Main Pathar hun Mere Sar per ye Ilzaam aata hai,
Kahi Bhi Aaina Toote Mera Hi Naam Aata Hai
मैं पत्थर हूँ मेरे सर पर ये इलज़ाम आता है,
कही भी आइना टूटे मेरा ही नाम आता है


Roz Khwabon Mein Jeeta Hoon Wo Zindagi,
Jo Tere Sath main Haqeeqat Mai sochi thi
रोज़ ख्वाबों में जीता हूँ वो ज़िन्दगी,
जो तेरे साथ मैं हकीकत मे सोची थी



Mohabbat Bhi Hathon Mein Lagi Mehandi ki tarah Hoti Hai,
Kitni bhi gehri Kyon Na Ho fiki Padh hi Jaati Hai
मोहब्बत भी हाथों में लगी मेहंदी की तरह होती है,
कितनी भी गहरी क्यों न हो फीकी पढ़ ही जाती है


Rahat Indori Shayari

🅺🅰🅽🆃🅰…

Na HumsafarNa Kisi humnashi Se nikalega,
Hamare Paon ka Kanta Hami Se nikalega
न हमसफ़र न किसी हमनशी से निकलेगा,
हमारे पाँव का काँटा हमी से निकलेगा

shayari
Rahat indori shayari

Agar khilaf Hai hone do Jaan thodi hai,
Ye sab Dhuan Hai Koi Aasman thodi hai,
Lagegi Aag to aaenge ghar Kai zad Mein,
Yahan per sirf Hamara Makan thodi hai
अगर ख़िलाफ़ हैं होने दो, जान थोड़ी है
ये सब धुआँ है कोई आसमान थोड़ी है
लगेगी आग तो आएँगे घर कई ज़द में
यहाँ पे सिर्फ़ हमारा मकान थोड़ी है


Neendo ka Aankhon Se Rishta TOot chuka,
Apne Ghar Ki pehredari kiya karo,
Roz Vahi Ek koshish Zinda Rahane ki,
Marne Ki Bhi Kuchh taiyari kiya karo
नींदों का आँखों से रिश्ता टूट चुका,
अपने घर की पहरेदारी किया करो,
रोज़ वही एक कोशिश ज़िंदा रहने की,
मारने की भी कुछ तयारी किया करो



Meri Nigahon mein Wo Shaqs aadami bhi nahin
Jise Laga Hai Zamana Khuda Banane mai
मेरी निगाहों में वो शक़्स आदमी भी नहीं
जिसे लगा है ज़माना खुदा बनने मे

Pages ( 16 of 16 ): « Previous123456789101112131415 16

Leave a Reply